|PMFBY| प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, लिस्ट & स्टेटस

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन आवेदन | Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Application Form | प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | Apply Online For PM Fasal Bima Yojana | PMFBY Online Registration Form |

केंद्र सरकार द्वारा देश के किसानों को किसी भी प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में बर्बादी होने पर किसानों को बीमा प्रदान करने हेतु प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से किसानों को किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा के कारण हुई फसल में नुकसान पर बीमा प्रदान किया जाता है।

इस लेख के माध्यम से हम आपको पीएम फसल बीमा योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी स्पष्ट करेंगे जैसे उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, पात्रता एवं आवेदन की प्रक्रिया। PM Fasal Bima Yojana से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको इस लेख को ध्यान पूर्वक पढ़ना होगा।

Table of Contents

PM Fasal Bima Yojana 2022

इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा की गई है। इस योजना के माध्यम से देश के किसानों को किसी भी प्रकार के प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में खराबी होने पर बीमा प्रदान किया जाता है। पीएम फसल बीमा योजना के कार्यान्वयन भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा किया जाता है। इस योजना के अंतर्गत केवल वही किसान आवेदन कर कर सकते हैं जिनकी फसल प्रकृतिक आपदा जैसे सूखा पड़ना, ओले पड़ना आदि शामिल हो। अगर किसी और वजह से फसल का नुकसान हुआ है तो बीमा की राशि नहीं दी जाएगी।

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 8800 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के तहत किसानों को खरीफ फसल का 2% और रबी फसल का 1.5% भुगतान बीमा कंपनी द्वारा किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करवाना होगा।

पीएम फसल बीमा योजना के मुख्य तथ्य

इस योजना के मुख्य तथ्य निम्नलिखित हैं:-

योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2022
किसके द्वारा शुरू की गईकेंद्र सरकार द्वारा
योजना का उद्देश्यकिसानों की फसल खराब होने के कारण बीमा राशि प्रदान की जाएगी
योजना के लाभदेश के किसानों को आत्मनिर्भर बनाना है
योजना के लाभार्थीदेश के किसान
ऑनलाइन आवेदन की तिथि31 जुलाई 2019 खरीफ फसल के लिए
आरंभ अतिथि13 जनवरी 2016
सहायता राशि2 लाख रुपये
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन या ऑफलाइन
अधिकारिक वेबसाइट pmfby.gov.in

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सभी जानते हैं प्राकृतिक आपदाओं के कारण देश के किसानों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। आर उनकी आर्थिक स्थिति कमज़ोर हो जाती है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार द्वारा पीएम फसल बीमा योजना का शुभारंभ 13 जनवरी 2016 को किया गया है। प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई केंद्र सरकार द्वारा की जाएगी।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana के अंतर्गत बाढ़, आंधी, तेज बारिश आदि के चलते फसल को हुए नुकसान पर किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत किसानों की फसल खराब होने के कारण केंद्र सरकार द्वारा किसानों को बीमा राशि प्रदान की जाती है। इस बीमा राशि को प्राप्त करके किसान आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

31 दिसंबर 2021 तक किया जाएगा आवेदन

पीएम फसल बीमा योजना के तहत रबी सीजन के लिए कार्य शुरू कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों द्वारा किसान बैंक में अपनी फसल के अनुसार प्रीमियम जमा कर सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत 31 दिसंबर 2021 तक आवेदन कर सकते हैं। इस बात की जानकारी उपमंडल कृषि अधिकारी डॉ कृष्णा कुमार द्वारा दी गई है। इस योजना के अंतर्गत रबी फसल के लिए किसानों द्वारा मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा।

इस पोर्टल पर अपनी फसल का सटीक विवरण भरना होगा। Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana में केसीसी किसानों द्वारा 13 दिसंबर 2021 से अपनी फसलों की स्थिति बैंक में जाकर स्पष्ट करना अनिवार्य है। जो सभी किसान इस योजना का लाभ उठाना नहीं चाहते हैं उन्हें बैंक में प्रीमियम नहीं काटने के लिए लिखित निवेदन करना होगा। किसानों को जिसके लिए 15 दिसंबर 2021 से पहले बैंक में जाना होगा। किसानों की प्रीमियम काटने की कार्रवाई 15 दिसंबर के बाद आरंभ कर दी जाती है। इसके बाद कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा।

रबी फसल के लिए प्रीमियम राशि

इस योजना में रबी सीजन के लिए प्रीमियम की राशि को इस प्रकार दे रखी है:-

फसल का नामप्रति हेक्टेयर प्रीमियम की राशि
गेहूं1100.90 रुपये
जौ661.62 रुपये
सरसों681.09 रुपये
चने505.95 रुपये
सूरजमुखी661.62 रुपये

प्रति हेक्टेयर के लिए बीमित राशि

इस योजना में प्रति हेक्टेयर के लिए बीमित राशि को किस प्रकार दे रखी है :-

फसल का नामप्रति हेक्टेयर के लिए बीमित राशि
गेहूं67460 रुपये
जौ44108 रुपये
सरसों45405 रुपये
चने33730 रुपये
सूरजमुखी44108 रुपये

मध्य प्रदेश के 47 लाख किसानों ने किया पंजीकरण

मध्यप्रदेश में रहने वाले किसानों को इस साल 47 लाख किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से लाभ पहुंचाया जाएगा। पहले साल में भी इस योजना में 3 लाख किसान जुड़े हुए थे। सबसे ज्यादा उज्जैन के किसानों ने इस योजना के अंतर्गत अपना बीमा कराया है। जिनकी संख्या 4 लाख 29 हजार है और सिंगररौली में 855 किसानों ने बीमा करवाया है। वर्ष 2016 में 25 लाख किसानों ने तथा वर्ष 2018 में 35 लाख किसानों ने बीमा करवाया है।

इस योजना के तहत बीमा करवाने के लिए किसानों को केवल 2 % प्रीमियम का भुगतान करना होता है। एवं प्रीमियम की राशि 98% केंद्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा की जाएगी। इसके अलावा मंदसौर, सीहोर, देवास, राजगढ़ के किसानों ने भी इस योजना में अपना बीमा करवाया है। PM Fasal Bima Yojana के अंतर्गत 100 % किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ दिया जाएगा। अब तक लगभग 50% किसानोें को कवर किया गया।

Pradhan Mantri Yojana

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अपडेट

इस योजना का लाभ सभी किसानों तक पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा इस योजना के नियमों में कुछ बदलाव किए गए हैं। नए नियमों के तहत किसानों को फसल पर प्रकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है तो उस स्थिति में बीमा कंपनी द्वारा पहले से अधिक लाभ दिया जाएगा। इस योजना में पहले गेहूं काटने के बाद मड़ाई के दौरान यदि आग लग जाती है बारिश पड़ जाती है इस स्थिति में किसानों का नुकसान हो जाता है।

इस स्थिति में बीमा का लाभ अकेले किसान को नहीं मिलता था। इस योजना के अंतर्गत कई बार ऐसा हुआ है उन किसानों को भी योजना का लाभ मिल जाता था जिनका कोई नुकसान नहीं हुआ हो। इस योजना का लाभ पूरी तरह से प्राप्त नहीं हो पाता था। PM Fasal Bima Yojana में नई व्यवस्था के अंतर्गत अलग-अलग किसानों को पूरी फसल का नुकसान का लाभ प्रदान किया जाएगा। यह लाभ प्राप्त करने के बाद किसानों को अपने सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों के साथ किसी बैंक में संपर्क करना होगा।

लखनऊ में अब तक 35000 किसानों ने किया बीमा

इस योजना में सभी किसानों के पास क्रेडिट कार्ड है तो उनको दोबारा से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए बीमा करवाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी। अगर किसानों के फसल में नुकसान हुआ है तो उन किसानों को टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके सूची देनी है। टोल फ्री नंबर 18001030061 है। किसानों के नुकसान की सूची कृषि विभाग के अधिकारी को दी जाएगी। उत्तर प्रदेश के लखनऊ में  35259 किसानों ने बीमा करवाया है।

इस योजना में किसानों द्वारा 3.27 करोड़ रुपये के प्रीमियम का भुगतान किया गया है। इस योजना में लगभग 8411 किसानों ने क्लेम किया है। इस योजना में बीमा कंपनी द्वारा 5.78 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। लखनऊ में कुल 2.29 किसान हैं और 172714 किसान क्रेडिट कार्ड धारक हैं। PM Fasal Bima Yojana के तहत 90 हजार किसानों का पंजीकरण हो चुका है। एवं 1.16 करोड़ किसानों का पंजीकरण होना बाकी है।

31 जुलाई 2021 से पहले करें पंजीकरण

इस योजना के तहत किसानों को किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा के कारण फसल खराब होने वाले नुकसान पर बीमा कवर प्रदान किया जाएगा। सरकार द्वारा इस कार्यान्वयन कभी पूरा ध्यान रखा जाएगा। जिला स्तर पर परियोजना अधिकारी व सर्वेयर इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नियुक्त किए गए हैं। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत बीमा कंपनी द्वारा भी जिला एवं  स्तर पर अपने कर्मचारियों की नियुक्ति इस योजना के कार्यान्वयन के लिए को गई है।

PM Fasal Bima Yojana के तहत हरियाणा में साल 2021 से खरीफ सीजन में धान, मक्का, बाजरा व कपास एवं रबी सीजन में गेहूं, जौ, चना, सरसों और सूरजमुखी की फसलों का बीमा किया जाएगा। सभी किसान जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें 31 जुलाई 2021 से पहले पोर्टल पर पंजीकरण करवाना जरूरी है।

निकासी के लिए बैंक को देनी होगी लिखित सूचना

जैसे कि हम सभी लोग जानते हैं देश के सभी किसानों के लिए स्वैच्छिक है। जो भी किसान पीएम फसल बीमा योजना का लाभ प्राप्त करना नहीं चाहते तो उसे इस बात की जानकारी 29 जुलाई 2021 तक अपने बैंक को लिखित में देनी होगी। इसके बाद उस किसान को इस योजना से बाहर कर दिया जाएगा। किसान द्वारा तय सीमा तक कोई भी जानकारी बैंक को नहीं दी गई तो बैंक द्वारा किसान का पंजीकरण इस योजना में कर दिया जाएगा।

इस योजना में किसानों की बीमा की राशि काट ली जाएगी। वह कभी किसान जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं वह अपना आवेदन ग्राहक सेवा केंद्र या बीमा कंपनी के प्रतिनिधि के माध्यम से कर सकते हैं। PMFBY Yojana की अंतिम तिथि से 2 दिन पहले बैंक में देनी होगी यानी कि किसान को इस बात की जानकारी 29 जुलाई 2021 तक बैंक को प्रदान करनी होगी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्रीमियम की राशि

इस योजना के अंतर्गत प्रीमियम की राशि कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

फसलप्रीमियम राशि
धान713.99 रुपये प्रति एकड़
मक्का356.99 रुपये प्रति एकड़
बाजरा335.99 रुपये प्रति एकड़
कपास1732.50 रुपये प्रति एकड़
गेहूं409.50 रुपये प्रति एकड़
जौ267.75 रुपये प्रति एकड़
चना204.75 रुपये प्रति एकड़
सरसों275.63 रुपये प्रति एकड़
सूरजमुखी267.75 रुपये प्रति एकड़

किसानों को प्रदान की जाने वाली राशि

इस योजना के अंतर्गत प्रदान करने वाली राशि कुछ इस प्रकार दे रखी हैं:-

फसलबीमित राशि
धान35699.78 रुपये प्रति एकड़
मक्का17849.89 रुपये प्रति एकड़
बाजरा16799.33 रुपये प्रति एकड़
कपास34650.02 रुपये प्रति एकड़
गेहूं27300.12 रुपये प्रति एकड़
जौ17849.89 रुपये प्रति एकड़
चना13650.06 रुपये प्रति एकड़
सरसों18375.17 रुपये प्रति एकड़
सूरजमुखी17849.89 रुपये प्रति एकड़

52 लाख किसानों को मिली दावे की राशि

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 2018-19 में 52,41,268 किसानों को फसल के क्लेम की राशि का भुगतान किया जाएगा इस योजना के अंतर्गत प्रति साल लगभग 5.5 करोड़ों किसान आवेदन करते हैं। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत 90 हजार करोड़ रुपये तक के दावे का भुगतान किसानों के खाते में किया जा चुका है।

यह भुगतान किसानों के खातों में सीधे डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से किया जाएगा। PM Fasal Bima Yojana का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना होगा। इस योजना में आवेदन ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनों माध्यम से किया जाएगा।

पीएम फसल बीमा योजना में नामांकित किसानों के आवेदन की संख्या

इस योजना में नामांकित किसानों के आवेदन की संख्या कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

सालनामांकित किसानों की संख्या
2018-19577.7 लाख रुपये
2019-20612.3 लाख रुपये
2020-21613.6 लाख रुपया

3 सालो में जमा किया गया प्रीमियम

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में पिछले 3 सालों से 13 हजार करोड़ रुपये का प्रीमियम जमा किया गया है। प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों को प्रीमियम से साढ़े 4 गुना राशि करीब 64 हजार करोड़ रुपये मुआवजे के रूप में प्राप्त हुई। इस योजना में प्रीमियम की हिस्सेदारी में कोई भी बदलाव नहीं हुआ है।

PM Fasal Bima Yojana में खारीफ फसल के लिए दो फीसद , रबी फसल के लिए 1.5 फीसद और व्यावसायिक बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 फीसद है। इस योजना के तहत 8,090 करोड़ रुपये से अधिक के दावे का भुगतान किया गया है। इस योजना का लाभ प्राप्त करके किसान आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

90 हजार करोड रुपये के दावों का भुगतान

जैसे की हम सब जानते हैं सरकार द्वारा 13 जनवरी 2016 को आरंभ करने वाली प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत किसानों को प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़ आंधी तेज़ बारिश से होने वाले नुकसान के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। यह योजना भारतीय कृषि बीमा कंपनी द्वारा संचालित की गई है अब तक इस योजना के अंतर्गत लगभग 5.5 करोड़ किसानों का आवेदन हो चुका है तथा 90 हजार करोड़ रुपए के दावों का भुगतान किया जा चुका है।

यह दावे आधार सीडिंग के माध्यम से निपटाए गए हैं तथा कोविड-19 के दौरान इस योजना के अंतर्गत 7000000 किसानों को लगभग 8741.30 करोड रुपये प्रदान किए जा चुके हैं। PMFBY Yojana के अंतर्गत औसदन बीमित राशि 40700 रुपये कर दी गई है। यह राशि पहले 15,100 रुपये प्रति हेक्टेयर थी।

पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत गतिविधि कैलेंडर

इस योजना के अंतर्गत गतिविधि कैलेंडर की सूची कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

गतिविधि कैलेंडरखरीफरबी
अनिवार्य आधार पर लोनी किसानों के लिए स्वीकृत लोनअप्रैल से जुलाई तकअक्टूबर से दिसंबर तक
किसानों के प्रस्ताव की प्राप्ति के लिए कट ऑफ तारीख ऋणदाता और गैर-ऋणदाता31 जुलाई31 दिसंबर
उपज डेेटा प्राप्त करने के लिये कट आफ तारीखअंतिम फसल के 1 महीने के भीतरअंतिम फसल के 1 महीने के भीतर

पीएम किसान फसल योजना रिवाइज

इस योजना में संशोधित की राशि कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

प्रकारसाल 2016 के लिएसाल 2019 के लिए
किसान द्वारा देय प्रीमियम धनराशि900 रुपये600 रुपये
शतप्रतिशत नुकसान की दशा मे किसान को प्राप्त धन राशि15000 रुपये30000 रुपये

फसल बीमा योजना के अंतर्गत रबी फसल बीमा प्रक्रिया आरंभ

इस योजना के अंतर्गत रबी फसल बीमा की प्रक्रिया को आरंभ कर दिया गया है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत लाभार्थियों के बैंक खातों से प्रीमियम राशि का भुगतान किया जाएगा सरकार द्वारा इसके निर्देश जारी कर दिए गए हैं। 31 दिसंबर 2020 से पहले ही प्रीमियम की राशि किसानों के अकाउंट से काट ली गई है तथा 15 जनवरी 2021 में इसकी जानकारी पोर्टल पर दर्ज कर दी गई थी।

इस योजना की प्रक्रिया के बारे में संपूर्ण जानकारी मध्यप्रदेश के बैंकों के नोडल कार्यालय को एग्रीकल्चर इंश्योरेंस कंपनी ऑफ़ इंडिया लिमिटेड द्वारा प्रदान की गई। सभी पात्र लाभार्थियों के हाथों से बैंक द्वारा प्रीमियम राशि काट ली गई है और इस योजना के अंतर्गत श्रेणी किसानों को सहमति पत्र देने की आवश्यकता नहीं है। PMFBY Yojana के माध्यम से किसानों को स्केल ऑफ फाइनेंस का 1.5 फीसदी प्रीमियम के रूप में देनी होगी।

पीएम फसल बीमा योजना का बजट

इस योजना के अंतर्गत बुवाई से पहले से लेकर कटाई के बाद तक का समय कवर किया जाएगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत रोकी गई बुवाई और मध्य मौसम प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान को भी कवर किया जाएगा। फसल का नुकसान होने पर किसानों को आर्थिक रूप से सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत 16 हजार करोड रुपये का बजट निर्धारित किया गया है।

यह बजट पिछले साल की तुलना से 350 करोड रुपये ज्यादा है। इस योजना में प्रति वर्ष लगभग 5.5 करोड़ों किसान इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। पिछले 5 सालों का कार्यान्वयन देखते हुए सरकार ने PMFBY Yojana को रीलॉन्च करने का निर्णय लिया था। इस योजना के अंतर्गत नामांकित कुल किसानों में से 84% छोटे और सीमांत किसान हैं।

पीएम फसल बीमा योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

इस योजना से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

  • इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा 13 जनवरी 2016 को की गई है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को देश के किसानों को किसी प्राकृतिक आपदा के कारण होने वाले फसल के नुकसान पर इंश्योरेंस कवर प्रदान करने के लिए आरंभ किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से अब तक लाखों किसानों को लाभ पहुंचा है।
  • जिसके बदले उनको 60 हज़ार करोड रुपये तक का इंश्योरेंस क्लेम प्राप्त हुआ है।
  • सरकार द्वारा सभी पात्र किसानों तक इस योजना का लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जाता है। जिस के लिए सरकार द्वारा प्रचार किया जाता है।
  • इस योजना को 27 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित किया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत क्लेम रेश्यो 88.3 प्रतिशत है।
  • सरकार द्वारा समय-समय पर इस योजना की समीक्षा की जाती है एवं सभी हितग्राही को से संवाद किया जाता है।
  • इस योजना में फरवरी 2021 में कुछ संशोधन भी किए गए हैं। जिससे कि सभी किसानों को और बेहतर सुविधाएं प्रदान की जा सके।
  • संशोधित प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अनुसार वह राज्य जिनमें स्टेट सब्सिडी की पेमेंट लंबे समय तक विलंब है वह इस योजना में भाग नहीं ले पाएंगे।
  • इस योजना में बीमा कंपनी द्वारा 0.5% प्राप्त हुई प्रीमियम की राशि इंफॉर्मेशन, एजुकेशन एंड कम्युनिकेशन एक्टिविटी के लिए खर्च की जाती है।
  • इस योजना को संचालित करने का मुख्य उद्देश्य सभी किसानों को खेती करने के लिए बिना किसी आपदा की चिंता किए प्रोत्साहित करना है।
  • पहले 3 वर्षों में किसानों द्वारा लगभग 13 हज़ार करोड रुपये का प्रीमियम जमा किया गया है।
  • इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए एक सेंट्रल एडवाइजरी कमेटी का भी गठन किया गया है।
  • PM Fasal Bima Yojana को आधार एक्ट 2016 के अंतर्गत संचालित किया जाता है।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी के पास आधार नंबर होना अनिवार्य है।

December Update Of Pradhanmantri Fasal Bima Yojana

पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान पर इंश्योरेंस कवर प्रदान किया जाएगा। सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत वाइल्ड लाइफ डैमेज को कवर करने का भी फैसला लिया गया है। इस योजना के अंतर्गत फसल को जंगली जानवर के कारण नुकसान पहुंचता है तो किसानों को फसल पर हुए नुकसान पर कवर प्रदान किया जाएगा।यह सुविधा एक ऐडऑन कवरेज के तौर पर प्रदान की जाएगी।

सरकार द्वारा इस कवरेज पर अतिरिक्त सब्सिडी प्रदान करने पर विचार कर रही है। PMFBY Yojana में बीमा कंपनी तथा MoEFCC के परामर्श से सरकार द्वारा बोलियो के मूल्यांकन के लिए विस्तृत प्रोटोकॉल और प्रक्रिया तैयार कर ली गई है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में नवंबर अपडेट

इस योजना के अंतर्गत किसानों की फसल प्रकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए पीएम फसल बीमा योजना का शुभारंभ किया गया है। प्रतीक आपदा के कारण फसल को कोई नुकसान होता है तो 72 घंटों में शिकायत स्थानीय कृषि कार्यालय किसान हेल्पलाइन नंबर पर दर्ज करनी होगी।

यह शिकायत क्राप इंश्योरेंस ऐप पर भी दर्ज कराई जा सकती है। यदि आपको इस बारे में अन्य जानकारी प्राप्त करनी हो तो आप हेल्पलाइन नंबर 18001801551 पर भी संपर्क कर सकते हैं। PM Fasal Bima Yojana का लाभ प्राप्त करके किसानों को काफी लाभ पहुंचेगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत प्रीमियम राशि का भुगतान

इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को प्रीमियम की राशि का भुगतान भी करना होता है। यह प्रीमियम की राशि अन्य फसल बीमा योजना की उपेक्षा में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में बहुत कम रखी गई है।

इस योजना में प्रीमियम की राशि कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

  • खरीफ फसल के लिए: बीमित राशि 2%
  • रबी फसल के लिए: बीमित राशि 1.5%
  • सालाना वाणिज्यिक और बागवानी की फसल के लिए: बीमित राशि का 5%

फसल बीमा योजना के अंतर्गत क्रॉप और प्रीमियम

इस योजना में फसल और प्रीमियम की राशि कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

फसलकिसान द्वारा देय बीमा राशि का प्रतिशत
खरीफ2.0%
रबी1.5%
वार्षिक वाणिज्यिक एवं बागवानी फसले  5%

योजना के अंतर्गत जमा किया गया प्रीमियम

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में पिछले 3 सालों से 13 हजार करोड़ रुपये का प्रीमियम जमा किया गया है। प्राकृतिक आपदा के कारण किसानों को प्रीमियम से साढ़े 4 गुना राशि करीब 64 हजार करोड़ रुपये मुआवजे के रूप में प्राप्त हुई। इस योजना में प्रीमियम की हिस्सेदारी में कोई भी बदलाव नहीं हुआ है।

PM Fasal Bima Yojana में खारीफ फसल के लिए दो फीसद , रबी फसल के लिए 1.5 फीसद और व्यावसायिक बागवानी फसलों के लिए अधिकतम 5 फीसद है। इस योजना के तहत 8,090 करोड़ रुपये से अधिक के दावे का भुगतान किया गया है। इस योजना का लाभ प्राप्त करके किसान आत्मनिर्भर भी बनेंगे।

पीएम फसल बीमा योजना में आवेदन करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण तिथियां

इस योजना के अंतर्गत अगर आप भी आवेदन करवाना चाहते हैं तो खरीफ फसल के लिए अंतिम तिथि 31 जुलाई 2016 है। और रबी फसल के लिए अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2016 है। Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की अंतिम तिथि सीएससी केंद्र, पीएमएफबीवाई पोर्टल, इंश्योरेंस कंपनी या फिर कृषि अधिकारी से भी पूछी जा सकती हैं। इस योजना में आवेदन करने के बाद किसान इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

Benefits Of Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana

इस योजना के लाभ निम्नलिखित हैं:-

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा की शुरुआत 13 जनवरी 2016 को केंद्र सरकार द्वारा की गई है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत अगर किसी भी किसान की फसल को नुकसान हुआ है तो उसको बीमा प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के तहत किसी भी किसान की फसल प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हुई है तो इस योजना में उसको लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • किसी किसान की फसल किसी इंसान के कारण खराब हुई है तो इस योजना का लाभ में किसान नहीं उठा सकता।
  • इस योजना के अंतर्गत किसानों को मिलने वाली पॉलिसी खरीफ फसल 2% रवि फसल के लिए 1.5% का भुगतान करते हैं।
  • इस योजना के लिए 8800 करोड़ रुपए ख़र्च किए गए हैं ।
  • यदि प्राकृतिक आपदा के कारण होने वाले नुकसान जैसे कि सूखा पड़ना ओले के कारण फसल में बहुत हानि होने पर सरकार द्वारा मदद की जाएगी ।
  • इस योजना के माध्यम से किसान होने वाले नुकसान को आसानी से भर सकते हैं।
  • इस योजना के तहत किसी कारण से नुकसान होने पर इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं
  • PM Fasal Bima Yojana को 27 राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में संचालित किया गया है।
  • इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए एक सेंट्रल एडवाइजरी कमेटी का भी गठन किया गया है।
  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों के पास आधार कार्ड होना भी चाहिए
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की विशेषताएं

राज्य सरकार द्वारा की गई इस योजना की विशेषताएं कुछ इस प्रकार दे रखी है:-

  • इस योजना के माध्यम से प्राकृतिक आपदाओं फसल में होने वाला नुकसान पर आर्थिक रूप से सहायता प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों की आय में बहुत ज्यादा कठिनाइयां आती है जिससे वह अपना पालन पोषण आसानी से नहीं कर पाते हैं।
  • Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana की फसलों को अधिसूचित बीमा इकाई को कम कर दिया जाता है।
  • इस योजना के माध्यम से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को Actuarial/ bidded प्रीमियम संचालित किया जाता है।
  • इस योजना के सम्मिलित जो छोटे किसान हैं उनको 2% खरीफ पर 1.5% राबी एवं तिलहन फसलों पर एवं 5% वाणिजय बागवानी फसलों पर अधिमूल्य का भुगतान करना होगा।
  • यदि किसानों को अधि मूल्य देना पड़ेगा तो उसकी 50% की पूंजी राज्य सरकार एवं पचास परसेंट की पूंजी की सरकार द्वारा वाहन की जाएगी। पूर्वोत्तर राजू के मामले में 90% की पूंजी केंद्र सरकार एवं 10% परसेंट की पूंजी राज्य सरकार द्वारा वाहन की जाएगी।
  • जो किसान कर्ज लेंगे उन किसानों को सामान्य बीमा पूंजी का भुगतान भी करना होगा।
  • बीमा राशि मे इसलिए कमी आई है क्योंकि सरकार के जरिए अधिकतम कैपिंग के प्रावधान को हटा दिया गया है।
  • इस योजना के सम्मिलित रोकी गई बुवाई के लिए बीमित 25% तक के दावे का प्रावधान है।
  • मौसम को देखते हुए प्रतिकूलता के लिए बीमा राशि का 25% तक ऑन अकाउंट भुगतान किया जाएगा यदि बीमा इकाई में फसल की स्थिति 50% से ज्यादा बताई जाती है।
  • आंकड़ों के माध्यम से फसल कटाई की शेष क्लेम की पूंजी प्रदान की जाएगी।
  • फसल का नुकसान देखते हुए दावों को शीघ्र खत्म करने के लिए सेंसिंग टेक्निक फोन और ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा।
  • पीएम फसल बीमा योजना को फसल बीमा पोर्टल के काम करने के लिए विकसित किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से जो बताई गई राशि है वह डायरेक्ट किसान के खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी।
  • सरकार द्वारा सभी धारकों के बीच योजना के बारे में बताने का फैसला किया जाता है।
  • अगर आप लोग भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो इसके आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर अपना आवेदन करवा सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत पात्रता

वह सभी व्यक्ति को इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें नीचे दिए गए पात्रता मानदंड को पूरा करना होगा:-

  • इच्छुक लाभार्थी को भारत का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • इस योजना के तहत आप अपनी ज़मीन पर की गयी खेती का बीमा करवा सकते है साथ ही आप किसी उधार की पर ली गयी ज़मीन पर की गयी खेती का भी बीमा करवा सकते है।
  • देश क उन किसानो का इस योजना के तहत पात्र माना जायेगा। जो पहले किसी बीमा योजना का लाभ नहीं ले रहे हो।

Important Documents

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज़ ये है:-

  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • किसान का आई डी कार्ड
  • किसान का एड्रेस प्रूफ 
  • ड्राइविंग लाइसेंस
  • पासपोट
  • वोटर ID कार्ड
  • खेत का खाता नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • आवेदक का पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • आवेदक का पता

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा::

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्म ऑनलाइन भरने के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया
  • पीएम फसल बीमा योजना में आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको ऑफिशियल वेबसाइट पर अपना एक अकाउंट बनाना होगा।
  • अकाउंट बनाने के लिए Registration पर क्लिक करें और पूछी गई सभी जानकारी को सही सही से भरे।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद Submit Button पर क्लिक करें इससे आपका अकाउंट ऑफिशियल वेबसाइट पर बन जाएगा।
  • अब आपका अकाउंट बनकर तैयार है। आपको अब अपने अकाउंट में Login करना है।
  • उसके बाद आपको फसल बीमा योजना का फॉर्म भरना है।
  • फसल बीमा योजना का फॉर्म भरने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है। जैसी आप सबमिट बटन पर क्लिक करेंगे। आपकी स्क्रीन पर एक Successful Message आ जाएगा।
  • इस तरीके से आप का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

पीएम फसल बीमा योजना के तहत ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो इस योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

  • सर्वप्रथम आपको अपने नजदीकी बीमा कंपनी में जाना होगा।
  • अब आपको कृषि विभाग से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का आवेदन पत्र प्राप्त करना होगा।
  • इसके बाद आपको आवेदन पत्र पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे कि आपका Name Mobile Number Email ID दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को आवेदन पत्र के साथ अटैच करना होगा।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन पत्र कृषि विभाग में जमा करना होगा।
  • अब आपको प्रीमियम की राशि का भुगतान करना होगा।
  • इसके बाद आपको एक Reference Number दिया जाएगा।
  • इस नंबर के माध्यम से आप अपने आवेदन की स्थिति की जांच कर सकते हैं।

पोर्टल पर साइन इन करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो पोर्टल पर साइन इन करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको Sign In के बटन पर क्लिक करना होगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना पोर्टल पर साइन इन करने की प्रक्रिया
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा जिसमें आपको अपना Name Mobile Number Password and Captcha Code दर्ज करना होगा।
  • अब आपको Login के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप पोर्टल पर लॉगिन कर पाएंगे।

लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया

प्राकृतिक आपदा के कारण जैसे कि तूफान, बिजली, बारिश भूकंप के कारण आप की फसल में नुकसान हुआ है। और आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लाभार्थी हैं तो आप नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

  • सबसे पहले आपको अपने एग्रीकल्चर ऑफिसर या फिर इंश्योरेंस कंपनी के पास जाना होगा।
  • आपको एग्रीकल्चर ऑफिसर या इंश्योरेंस कंपनी को नुकसान होने के 72 घंटे के अंदर अंदर नुकसान की जानकारी देनी होगी।
  • इसके बाद आपको नुकसान की तिथि एवं समय की जानकारी भी दी जाएगी।
  • फसल के नुकसान की तिथि तथा टाइम के साथ-साथ फसल की Photo भी जमा करनी होगी।
  • पूरी प्रक्रिया आप Crop Insurance App के माध्यम से भी कर सकते हैं।
  • अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए आप फार्मर कॉल सेंटर पर संपर्क कर सकते हैं जोकि 18001801551 है।

आवेदन की स्थिति देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो आवेदन की स्थिति देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Application Status का ऑप्शन दिखाई देगा |
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  • आपको इस ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस नए पेज पर आपको अपना Receipt Number भरना होगा फिर कैप्चा कोड डालना होगा।
  • इसके बाद Search Status के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप आवेदन की स्थिति देख पाएंगे।

ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया

पीएम फसल बीमा योजना के अंतर्गत सरकार द्वारा एंड्रायड ऐप लॉन्च कर दिया गया है। सरकार द्वारा आधिकारिक वेबसाइट या फिर गूगल एप स्टोर के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप के माध्यम से किसान इस योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं अपना एप्लीकेशन स्टेटस चेक कर सकते हैं अपनी इंश्योरेंस प्रीमियम की राशि कैलकुलेट कर सकते हैं इसके लिए आपको अधिकारिक वेबसाइट पर जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। यह एक किसान का डाटा ऑटो बैकअप कर लेता है।

वह सभी व्यक्ति जो ऐप डाउनलोड करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • पहले आपको अपने मोबाइल फोन में गूगल प्ले स्टोर खोलना होगा।
  • अब आपको सर्च सर्च बॉक्स में प्रधानमंत्री फसल बीमा ऐप एंटर करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक सूची खुल कर आएगी जिसमें से आप को सबसे ऊपर वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Install के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार प्रधानमंत्री फसल बीमा आपके मोबाइल फोन में Download हो जाएगा।
  • अप किसान ऐप में अपना Name and Phone Number डालकर पंजीकरण कर सकते हैं और क्रॉप इंश्योरेंस की डिटेल देख सकते हैं।

लाभार्थी सूची देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो लाभार्थी सूची देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

अधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से

  • सर्वप्रथम आपको पीएम फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पर खुलकर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको लाभार्थी सूची के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा जिसमें आपको अपने State का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको अपने District का चयन करना होगा।
  • अब आपको अपने Block का चयन करना होगा।
  • जैसे ही आप ब्लॉक का चयन करेंगे आपके सामने लाभार्थी सूची खुलकर आ जाएगी।
  • अब आप को इस सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

बैंक के माध्यम से

वह सभी व्यक्ति जो बैंक के माध्यम से लाभार्थी सूची देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी बैंक में जाना होगा।
  • अब आपको संबंधित अधिकारी को अपना Application Number देना होगा।
  • इसके बाद आपको बैंक अधिकारी द्वारा मांगे गए Documents देने होंगे।
  • बैंक अधिकारी आपको लाभार्थी सूची से संबंधित जानकारी प्रदान करेंगे।
  • इस प्रकार आप लाभार्थी सूची में अपना नाम देख पाएंगे।

इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेट करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेट करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Insurance Premium Calculator के विकल्प पर क्लिक करना है
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेट करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक फॉर्म खुलकर आएगा।
  • इस फॉर्म में पूछे गए सभी जानकारी जैसे Season, Year, Scheme, State, District तथा Crop दर्ज करनी है
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Calculate के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप इंश्योरेंस प्रीमियम कैलकुलेट कर पाएंगे।

इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्ट देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्ट देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको पीएम फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको Insurance Company Direct के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्ट देखने की प्रक्रिया
  • अब आपके सामने नया पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आप इंश्योरेंस कंपनी डायरेक्टली देख सकते हैं।

शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको इसकी अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Technical Grievance का ऑप्शन दिखाई देगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना शिकायत दर्ज करने की प्रक्रिया
  • ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आपको Name, Mobile Number, Email ID and Comments दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आपको शिकायत दर्ज हो जायेगा।

स्टेट वाइज फार्मर डिटेल जानने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो स्टेट वाइज फार्मर डिटेल जानने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Report के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको State Wise Farmer Details के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
स्टेट वाइज फार्मर डिटेल जानने की प्रक्रिया
  • इस ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने फार्मर डिटेल्स लिस्ट खुलकर आ जाएगी।
  • आप इसमें से जिस भी साल की फार्मर लिस्ट चेक करना चाहते हैं आप उसे डाउनलोड करके चेक कर सकते हैं।

Note :- वह सभी किसान जो इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं। वे सरकारी दफ्तरों जैसे बैंक, PACS , जन सेवा केंद्र बीमा एजेंट या सीधे बीमा कंपनी से आवेदन करवा सकते हैं। इस खरीफ की फसल की बीवी की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2019 है।

फीडबैक देने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्त फीडबैक देखने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको पीएम फसल बीमा योजना की अधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको नीचे Feedback का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  • इस पेज पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। आपको इस फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे Name , Mobile Number, E-mail ID कमैंट्स आदि को भरना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको कैप्चा कोड डालकर सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।

बीमा का क्लेम करते समय रखना होगा इन बातों का ध्यान

इस योजना के अंतर्गत आवेदन किया है तो आप बीमा का क्लेम करना चाहते हैं तो आप बीमा कंपनी से छोटे पैमाने पर प्रकृति आपदाओं की जानकारी प्रदान करनी है तो यह जानकारी आपको समय से प्रदान करनी होगी इसके अलावा आपको आपदा की जानकारी बीमा कंपनी से देने में देरी की तो आपको क्लेम का भुगतान नहीं किया जाएगा। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत छोटे पैमाने पर प्रकृतिक आपदाओं में ओलावृष्टि, भू-स्खलन, अतिवृष्टि, बादल फटने, प्राकृतिक आग लगने तथा बेमौसम वर्षा या सामान्य से अधिक वर्षा होने आदि शामिल है।

PM Fasal Bima Yojana में 9,30,000 किसानों के बीमा क्लेम रद्द कर दिए गए हैं। से पहले किसानों को इस बीमा की जानकारी प्रदान नहीं की थी। इसके अलावा किसी बड़े पैमाने पर प्राकृतिक आपदा आती है तो इस स्थिति में आपको बीमा कंपनी के प्राकृतिक आपदा की जानकारी नहीं प्राप्त की जाएगी। बीमा कंपनी को सही समय पर सूचित कर दें नहीं तो प्रीमियम का भुगतान करने के बाद ही आपको क्लेम नहीं प्राप्त होगा।

क्लेम करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्त क्लेम करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम किसान को अपनी फसल के नुकसान के बारे में जानकारी इंश्योरेंस कंपनी बैंक या फिर राज्य सरकार अधिकारी को देनी होगी।
  • किसान द्वारा यह जानकारी टोल फ्री नंबर पर संपर्क करके भी प्रदान की जा सकती है।
  • यदि आपने Insurance Company के अलावा किसी और को जानकारी दी है तो यह सुनिश्चित करना होगा कि जल्द से जल्द यह जानकारी इंश्योरेंस कंपनी तक पहुंच जाए।
  • इंश्योरेंस कंपनी तक जानकारी पहुंचने के बाद 72 घंटे के भीतर ही नुकसान निर्धारणकरता नियुक्त करेगी।
  • अगले 10 दिन के भीतर ही आप की फसल को पहुंचे नुकसान का आकलन किया जाएगा
  • यह प्रक्रिया successfully हो जाने के 15 दिन के भीतर ही राशि आपके खाते में प्रदान की जाएगी।

टेंडर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो टेंडर डाउनलोड करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना होगा:-

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको डाक्यूमेंट्स के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको टेंडर के लिंक पर क्लिक करना होगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना टेंडर डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने टेंडर की सूची खुलकर आ जाएगी।
  • आप अपनी आवश्यकता अनुसार टेंडर की सूची के सामने दी गई डाउनलोड की लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।
  • टेंडर आपकी डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा।

गाइडलाइन डाउनलोड करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो गाइडलाइन डाउनलोड करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको Document के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको Guidelines के लिंक पर क्लिक करना होगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना गाइडलाइन डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने गाइडलाइंस की पूरी सूची खुलकर आ जाएगी।
  • आपको अपनी आवश्यकता अनुसार गाइड लाइन के सामने दी गई डाउनलोड की लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार गाइडलाइंस आपकी डिवाइस में डाउनलोड हो जाएंगी।

पोर्टल डाटा डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया

वे सभी व्यक्ति जो पोर्टल डाटा डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Dashboard के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको PMFBY Portal Data Dashboard के लिंक पर क्लिक करना होगा।
पोर्टल डाटा डैशबोर्ड देखने की प्रक्रिया
  • जैसे ही आप इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने डैशबोर्ड खुलकर आ जाएगा।

बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने की प्रक्रिया

सभी व्यक्ति जो बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Bank Branch Directory के लिंक पर क्लिक करना होगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना बैंक ब्रांच डायरेक्टरी देखने की प्रक्रिया
  • इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने बैंक ब्रांच डायरेक्टरी खुलकर आ जाएगी।
  • आपको सर्च बॉक्स में बैंक नेम दर्ज करना होगा।
  • संबंधित बैंक की जानकारी आपकी कंप्यूटर स्क्रीन पर होगी।

सीएससी लॉगिन करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो सीएससी लॉगिन करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बात आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको सीएससी के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको CSC Log In के बटन पर क्लिक करना होगा।
सीएससी लॉगिन करने की प्रक्रिया
  • इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खोलकर आएगा जिसमें आपको अपना Username and Password दर्ज करना होगा।
  • अब आपको Sign In के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप सीएससी लॉगइन कर पाएंगे।

सीएससी लोकेट करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो सीएससी लोकेट करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारी वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको सीएससी के टैब पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको CSC Locator के लिंक पर क्लिक करना होगा।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना सीएससी लोकेट करने की प्रक्रिया
  • इस लिंक पर क्लिक करेंगे आपके सामने नया पेज खुल कर आएगा।
  • यदि आप आईफोन यूजर हैं तो आपको ऐप स्टोर के बटन पर क्लिक करना होगा और यदि आप एंड्रॉयड यूजर है।
  • आपको गूगल प्ले के लिंक पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको Install के बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सीएससी लोकेटर आपके डिवाइस में इंस्टॉल हो जाएगा।
  • इस ऐप के माध्यम से नजदीकी सीएससी केंद्र लोकेट कर सकते हैं।

कवरेज डाटा देखने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो कवरेज डाटा देखने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए कारणों का पालन करना है:-

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आ जाएगा।
  • इस होम पेज पर आपको Dashboard के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद आपको कवरेज डाटा के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
कवरेज डाटा देखने की प्रक्रिया
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुल कर आ जाएगा।
  • इस पेज पर आप कवरेज डाटा देख सकते हैं।

क्रॉप लॉस रिपोर्ट करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो क्रॉप लॉस रिपोर्ट करने की प्रक्रिया देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पर खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको रिपोर्ट क्रॉप लॉस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपको डाउनलोड ऐप टू रिपोर्ट क्रॉप लॉस के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
 क्रॉप लॉस रिपोर्ट करने की प्रक्रिया
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको Install के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • अब ऐप आपके डिवाइस में डाउनलोड हो जाएगा।
  • इसके बाद आप इस ऐप को खोल कर क्रॉप लॉस रिपोर्ट कर सकते हैं।

सर्कुलर डाउनलोड करने की प्रक्रिया

वह सभी व्यक्ति जो सर्कुलर डाउनलोड करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है:-

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आ जाएगा।
  • होम पेज पर आपको सर्कुलर के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप Circular के विकल्प पर क्लिक करेंगे आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपनी आवश्यकतानुसार सर्कुलर पर क्लिक करना होगा।
  • अब आपके सामने PDF Format में सर्कुलर खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको डाउनलोड के विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आप सर्कुलर डाउनलोड कर पाएंगे।

Contact Information

इस योजना में संपर्क विवरण कुछ इस प्रकार दे रखा है:-

  • फोन नंबर :-  01123382012
  • हेल्पलाइन नंबर :- 01123381092

Leave a Comment