राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना 2024: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana Apply Online & Registration | राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना ऑनलाइन आवेदन | Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana की सभी जानकारी, लाभ, उद्देश्य तथा पात्रता |

प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने कुछ समय पहले साल 2022 में डॉक्टर भीमराव अंबेडकर राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का आरंभ किया | इस योजना का आरंभ दलित तथा आदिवासी युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए किया गया ताकि बेरोजगारी की दर में कमी हो सके | इसके द्वारा युवाओं को उद्यम स्थापित करने हेतु सक्षम बनाया जाएगा |

हम आपको आर्टिकल से संबंधित संपूर्ण जानकारी देंगे | इसके लिए ऑनलाइन आवेदन व पंजीकरण कैसे करें?  इसके लाभ, विशेषताएं, पात्रतातथा मुख्य बिंदु क्या है? इसके जरूरी दस्तावेज कौन-कौन से है? यदि आप राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो इस आर्टिकल को अंत तक ध्यानपूर्वक पढ़ें |

Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana

मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा 23 फरवरी 2022 को दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की घोषणा की गई | इसके अंतर्गत वंचित वर्गों के युवाओं को खुद उद्यम स्थापित करने में सक्षम बनाया जाएगा तथा उन्हें प्रशिक्षण भी दिया जाएगा | इस योजना से औद्योगिक क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा तथा नए उद्योग भी स्थापित होंगे | 

रीको औद्योगिक क्षेत्रों में उद्यमियों को जमीन आवंटन की दे राशि किस्तों पर ब्याज में पूरी छूट तथा जमीन रूपांतरण में 75% रियायत होगी | इसके अलावा जमीन की खरीद, लीज, ऋण दस्तावेजों पर स्टांप ड्यूटी में 100% छूट होगी | सभी दलित एवं आदिवासी तथा आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों को Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana का लाभ दिया जाएगा |

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के मुख्य बिंदु

इस योजना के कुछ मुख्य बिंदु निम्नलिखित प्रकार है:-

योजना का नामराजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना
किसके द्वारा आरंभ की गईमुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी द्वारा
घोषित तिथि23 फरवरी सन 2023
राज्यराजस्थान
उद्देश्य वंचित वर्गों को स्वरोजगार से जोड़ना
लाभगरीब युवाओं को खुद का रोजगार प्राप्त होगा
लाभार्थीदलित तथा आदिवासी वर्गों के युवा
योग्यताकेवल राजस्थान के युवा
योजना का प्रकारराज्य स्तरीय योजना
प्रशिक्षण हेतु सरकार द्वारा खर्च100 करोड़ रुपए
आवेदन का प्रकारऑनलाइन / ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटअभी लागू नहीं है

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के उद्देश्य

राजस्थान सरकार का दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य दलित तथा आदिवासी वर्ग से संबंधित तथा आर्थिक रूप से कमजोर और गरीब परिवारों के युवाओं को रोजगार प्रदान करना है | युवाओं को प्रशिक्षण देने के लिए राज्य में इनक्यूबेशन कम ट्रेनिंग सेंटर भी स्थापित किए जाएंगे | सरकार द्वारा इसके लिए 100 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे |

दलित तथा आदिवासी वर्ग के युवाओं द्वारा देश में औद्योगिक विकास को बढ़ावा मिलेगा | इन युवाओं को रोजगार प्राप्त हो जाएगा तथा हमारे देश के बेरोजगारी के स्तर में तेजी से गिरावट आएगी | इसलिए Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana द्वारा सरकार ने वंचित वर्ग के युवाओं के लिए एक बहुत बड़ा कदम उठाया है |

दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना के लाभ

इस योजना के कुछ मुख्य लाभ निम्नलिखित प्रकार हैं:-

  • राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना का लाभ केवल दलित तथा आदिवासी वर्ग के युवाओं को दिया जाएगा |
  • इसके अलावा वंचित वर्गों के युवाओं को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा |
  • इन युवाओं को प्रशिक्षण देने हेतु इनक्यूबेशन कम ट्रेनिंग सेंटर खोले जाएंगे |
  • इस योजना के द्वारा औद्योगिक क्षेत्र में अनेक उद्यम स्थापित किए जाएंगे जिससे राज्य के औद्योगिक क्षेत्र में विकास होगा |
  • Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana द्वारा देश के आदिवासी तथा दलित वर्ग के युवा सशक्त और आत्मनिर्भर बनेंगे |
  • इस योजना द्वारा युवाओं को खुद का रोजगार करने में मदद मिलेगी तथा साथ ही बेरोजगारी की दर में गिरावट आएगी जिससे देश का विकास होगा |
  • रीको औद्योगिक क्षेत्रों में उद्यमियों को भूमि आवंटन की दे राशि की किस्तों पर ब्याज में पूरी छूट मिलेगी |
  • जमीन के बदलने पर 75% की छूट मिलेगी |
  • जमीन की खरीद, लीज तथा ऋण दस्तावेजों पर स्टांप ड्यूटी में 100% की छूट मिलेगी |

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना की विशेषताएं

इस योजना की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित है:-

  • राजस्थान दलित आदिवासी एवं प्रोत्साहन योजना द्वारा औद्योगिक क्षेत्र में उद्योग स्थापित किए जाएंगे जिससे अत्यधिक विकास होगा |
  • युवाओं को आत्मनिर्भर और सशक्त बनाया जाएगा तथा उन्हें रोजगार प्रदान किया जाएगा |
  • युवाओं को अपने ही क्षेत्र में रोजगार मिलेगा जिससे उन्हें विदेश जाने या अन्य किसी समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा |
  • दलित तथा आदिवासी वर्ग के युवाओं की आय में भी सुधार आएगा जिससे उनका जीवन यापन अच्छी तरह व्यतीत हो सकेगा|
  • अच्छा रोजगार प्राप्त होने पर वंचित वर्गों के लोगों को अपने परिवार का पेट भरने में आसानी हो जाएगी |
  • Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana के अंतर्गत लगभग 25 लाख रुपए का युवाओं को अनुदान दिया जाएगा |
  • रीको औद्योगिक क्षेत्रों के दलित और आदिवासी वर्गों के युवाओं को आवंटित भूमि की निर्धारित सीमा 2000 वर्ग मीटर से बढ़ाकर 40000 वर्ग मीटर कर दी जाएगी |

पात्रता मानदंड

इस योजना का लाभ लेने के लिए सरकार द्वारा निम्नलिखित पात्रता रखी गई है:-

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए |
  • दलित तथा आदिवासी वर्ग के युवा
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा अत्यधिक अनुसूचित जनजाति के युवा
  • आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के वर्ग के युवा 
  • इसके अलावा बीपीएल श्रेणी के अंतर्गत आने वाले दलित तथा आदिवासी वर्ग के उद्योग कर्मियों को प्राथमिकता दी जाएगी |

आवश्यक दस्तावेज

इस योजना का लाभ लेने हेतु आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित है:-

  • आय प्रमाण पत्र
  • स्थाई प्रमाण पत्र
  • आधार कार्ड
  • शैक्षिक योग्यता कागजात
  • बैंक अकाउंट
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ

राजस्थान दलित आदिवासी उद्यम प्रोत्साहन योजना हेतु आवेदन


राजस्थान सरकार द्वारा अभी केवल Ragasthan Dalit Adivasi Udyam Protsahan Yojana की केवल घोषणा की गई है | अभी इसकी आधिकारिक वेबसाइट लॉन्च नहीं की गई | जब इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट सरकार द्वारा लांच की जाएगी तो आपको तुरंत इस आर्टिकल के माध्यम से सूचित कर दिया जाएगा |

Leave a Comment